Karva Chauth Vrat- हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, करवाचौथ का व्रत कार्तिक मास में कृष्णा पक्ष की चतुर्थी के मनाया जाता है, साल 2021 में करवाचौथ का व्रत 24 नवंबर को रविवार के दिन मनाया जायेगा। पिछली पोस्ट में हमने आपको करवाचौथ के शुभ मुहूर्त के बारे में बताया था। अब इस पोस्ट में हम करवाचौथ के व्रत की पूजन विधि (Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi) के बारे में बात करेंगे। 


Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi
Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi



करवा चौथ व्रत 2021 की पूजन विधि- Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi 2021

Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi 2021- करवा चौथ का व्रत विवाहित स्त्रियाँ अपने पति की दीर्घायु के लिए करती है, इस व्रत को पूर्ण करने के लिए भगवान शिव, माता पार्वती, और कार्तिकेय के साथ साथ भगवन गणेश की भी पूजा की जाती है। करवाचौथ की इस पूजा को करने के लिए नीचे दी गयी व्रत विधि (Karva Chauth Vrat Pujan Vidhi) करे।  


1) करवाचौथ के दिन सूर्योदय से पहले उठकर सरगी के रूप में मिला हुआ भोजन करके पानी पी लें। इसके बाद भगवान से इस निर्जला व्रत करने का संकल्प लें।


2) करवाचौथ के व्रत में महिलाएं पूरे दिन जल-अन्न ग्रहण किए बिना चांद देखने के बाद ही अपना व्रत (Karva Chauth Vrat) खोलती हैं।








3) पूजा करते समय एक मिट्टी की वेदी पर सभी देवताओं की स्थापना कर इसमें करवे रखें।


4) इसके बाद एक थाली में धूप, दीप, चन्दन, रोली, सिन्दूर रखकर घी का दीपक जलाएं।


5) करवाचौथ के पूजन (Karva Chauth Pujan) के दौरान करवा चौथ कथा खुद भी जरूर सुनें और दूसरों को भी सुनाएं।


6) चांद को छलनी से देखने के बाद अर्घ्य देकर चन्द्रमा की पूजा करनी चाहिए।


7) चांद को देखने के बाद पति के हाथ से जल पीकर व्रत खोलना चाहिए।


8) इस दिन बहुएं अपनी सास को थाली में मिठाई, फल, मेवे, रूपये आदि देकर उनसे सौभाग्यवती होने का आशीर्वाद लेती हैं।






आशा करते है आपको करवाचौथ की पूजन विधि (Karva Chauth Vrat ki Pujan Vidhi) अच्छी लगी होगी और जल्द ही समझ आ गयी होगी, अगर आपका कोई सुझाव है तो आप हमे कमेंट करके भी बता सकते है।


Post a Comment

Please share our post with your friends for more learning and earning.

Previous Post Next Post