Gayatri Mantra Benefits- यह मंत्र भारतीय संस्कृति के वेद शास्त्रों का सबसे शक्तिशाली मंत्र है। सभी शुभ कार्यो में, पूजा में, हवन में शादी में इत्यादि सभी जगह इस मंत्र का जाप किया जाता है। वही वेदो में बताया गया है की इस मंत्र का जप नियमित करने से जीवन की सभी भौतिक एवं आध्यात्मिक मनोकामना पूरी होने लगती है। 


अगर कोई इस मंत्र का जाप 108 बार सूर्योदय से पूर्व करके उगते सूर्य को इसी मंत्र का 11 बार बोलते हुए जल का अर्घ्य दे तो उसकी सभी इछाये मंत्र के देवता पूरी करने लगते है। इसके अलावा गायत्री मंत्र के अन्य बहुत से फायदे (Gayatri Mantra Benefits in Hindi) है, जो हम आपको यहाँ बताने वाले है। 


Gayatri Mantra Benefits in Hindi
Gayatri Mantra Benefits in Hindi



गायत्री मंत्र का मंतलब हिंदी में - Gayatri Mantra Meaning in Hindi

Gayatri Mantra in Hindi - ॐ भूर् भुवः स्वः। तत् सवितुर्वरेण्यं। भर्गो देवस्य धीमहि। धियो यो नः प्रचोदयात्।


Gayatri Mantra Meaning in Hindi- गायत्री मंत्र को वेदो का सार बताया गया है, गायत्री मंत्र का हिंदी में मतलब कुछ इस प्रकार है- 



यह भी पढ़े- कोरोना की दूसरी लहर में कैसे बचा जाये कोरोना वायरस से, जाने कोरोना वायरस से बचने के बहुत से उपाय



Gayatri Mantra Ka Matlab- उस प्राणस्वरूप, दुःखनाशक, सुखस्वरूप, श्रेष्ठ, तेजस्वी, पापनाशक, देवस्वरूप परमात्मा को हम अंत: करण में धारण करें। वह परमात्मा हमारी बुद्धि को सही मार्ग की और प्रेरित करें। यहीं हमारी आपसे प्रार्थना है। 




गायत्री मंत्र के फायदे हिंदी में - Gayatri Mantra Benefits in Hindi

चारों वेदो में गायत्री मंत्र की दिव्या महिमा के बारे में बताया गया है, इस मंत्र को जपने के अनेक लाभ (Gayatri Mantra Benefits in Hindi) जपकर्ता को मिलते है, जो कुछ इस प्रकार है- 



  • सुबह बिस्तर से उठते ही अष्ट कर्मो को जीतने के लिए 8 बार गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।


  • सुबह सूर्योदय के समय एकांत पूजा में बैठकर 3 माला या 108 बार समृद्धि, सफलता, सिद्धि और उच्च जीवन के लिए उच्चारण करना चाहिए।


  • भोजन करने से पूर्व गायत्री मंत्र का 3 बार जाप करने से भोजन अमृत सामान हो जाता है।


  • हर रोज घर से पहली बार जाते समय 5 या 11 बार समृद्धि, सफलता, सिद्धि और उच्च जीवन के लिए उच्चारण करना चाहिए।


  • किसी भी मंदिर में प्रवेश करने पर 12 बार परमात्मा के दिव्या गुणों को याद करते हुए गायत्री मंत्र का उच्चारण करना चाहिए।


  • अगर छींक आ जाये तो उसी समय 1 बार गायत्री मंत्र का उच्चारण करने से सारे अमंगल दूर हो जाते है।


  • रोज रात को सोते समय 11 बार मन ही मन में गायत्री मंत्र का जप करने से 7 प्रकार के भय दूर हो जाते है एवं दिन भर की सारी थकान दूर होते ही गहरी नींद आ जाती है।



अन्य जानकारी-


🎯 एकादशी के सभी व्रत 2021 में- देखे पूरी लिस्ट


🎯 एकादशी के सभी व्रत 2022 में- देखे पूरी लिस्ट


🎯 एकादशी के सभी व्रत 2023 में- देखे पूरी लिस्ट


यह भी पढ़े-

Post a Comment

Please share our post with your friends for more learning and earning.

Previous Post Next Post