शबनम अमरोहा कांड | शबनम कौन है | शबनम को फांसी क्यों होगी | शबनम को कौन फाँसी देगा | शबनम का बेटा कौन है। 


Shabnam Case Amroha in Hindi- अमरोहा शहर के निकट बावनखेड़ी गांव में 14/15 अप्रैल 2008 के रात कुछ ऐसा हुआ, जिससे देख कर सब जगह एक सनसनी सी फ़ैल गई। उस रात को बीत जाने के बाद वहाँ पर आज तक किसी ने अपनी बहन-बेटी का नाम शबनम नहीं रखा। क्यों इस आज़ाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी होगी और क्यों शबनम के नाम से आज भी पूरा गांव खौफ खाता है। क्या है शबनम अमरोहा का पूरा मामला चलिए जानते है - Shabnam Amroha Case in Hindi



Shabnam Case Amroha in Hindi
Shabnam Case Amroha in Hindi 


शबनम कौन है -Shabnam Kon Hai-

शबनम अमरोहा के निकट बावनखेड़ी नामक गांव में रहने वाली एक महिला है। जिसका प्रेम संबंध सलीम नामक व्यक्ति से चल रहा था। जो उसी गांव का था। शबनम ने अंग्रेजी से एमए (M.A.) किया हुआ था। जबकि सलीम पांचवी फेल था। शबनम एक अच्छे परिवार से ताल्लुकात रखती थी जिन पर काफी जमीन थी और सलीम पेशे से एक मजदूर था।





शबनम को फांसी क्यों होगी -Shabnam Ko Fansi Kyo Hogi -

Shabnam Saleem Case in Hindi- बात 14/15 अप्रैल 2008 की रात अमरोहा के निकट बावनखेड़ी गांव की है। जब शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर (Shabnam Saleem Amroha Case) अपने ही परिवार के 10 लोगो को मौत के घाट उतार दिया, जिसमे 8 महीने का मासूम बच्चा भी शामिल था। 



घटना के समय शबनम खुद 7 माह की गर्भवती थी। बहुत लम्बे समय कोर्ट में जाँच कार्यवाही चलने के बाद सलीम को फांसी की सजा सुना दी गई थी और फिर अब शबनम को भी फांसी की सजा के लिये आदेश आ गया है। इस कांड को सुनकर दूर - दूर तक सनसनी फ़ैल गई थी।





शबनम का बेटा कौन है और शबनम उससे मिलकर फफक कर क्यों रो पड़ी - Shabnam Amroha Son Taj Koun Hai

Shabnam Son Name and Details- शबनम ने जिस समय इस काण्ड को अंजाम दिया। उस समय शबनम 7 माह की गर्भवती थी। शबनम ने अपने बेटे का नाम ताज रखा। जो आज 12 वर्ष का है। जो बुलंदशहर के सुशील विहार नामक जगह उस्मान सैफी नाम के व्यक्ति के पास रहता है। उस्मान - शबनम के साथ एक ही कॉलेज में पढता था। शबनम -उस्मान से 2 साल सीनियर थी। उस्मान ने बताया की बेटे ताज को गोद लेने के लिए उसको बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा, उस्मान जब पहली बार उसके बेटे ताज को मिलाने रामपुर स्थित जेल में ले गया। तो शबनम उसको गले लगाकर फफक कर रो पड़ी और अपने बेटे चूमने लगी,और कहने लगी तुझे बड़ा होकर एक अच्छा आदमी बनना है।






शबनम को कौन फांसी देगा - Shabnam Ko Fansi Kon Dega

इस आज़ाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी होंगी, जिसका नाम शबनम है। इस समय भारत में फाँसी देने के लिए एक ही जल्लाद है, जिसका नाम पवन जल्लाद है। पवन उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में रहता है। अगर आपको याद हो तो, दिल्ली के निर्भया कांड के आरोपियों को भी पवन  जल्लाद ने ही फाँसी दी थी। 



शबनम को फाँसी कब होगी - Shabnam Ko Fansi Kab Hogi

पहले शबनम को फांसी (Shabnam Ko Fansi) फरवरी के महीने में ही होनी थी, लेकिन शबनम की फांसी (Shabnam Ki Fansi) कुछ समय के लिए फिर से टल गयी है। 


23 फरवरी को अमरोहा के जनपद न्यायालय ने शबनम का ब्यौरा माँगा था। लेकिन सरकारी वकील ने अदालत को बताया की अभी हाल ही में शबनम की फाँसी को रोकने के लिए एक दया याचिका लगायी गयी है और जब तक उस दया याचिका का फैसला नहीं आ जाता, तब तक के लिए फाँसी को टाल दिया गया है।


अब शबनम की तरफ से दूसरी बाद दया याचिका राज्यपाल को भेजी गयी है, इसके बाद यह दया याचिका राष्ट्रपति को भेजी जाएगी और इसके बाद फैसला होगा की शबनम को फांसी कब होगी (Shabnam Ko Fansi Kab Hogi) 


आपकी राय- क्या शबनम को उसके अपराध फाँसी होनी चाहिए या नहीं, हमें कमेंट करके बताएं



यह भी पढ़े- 


🎯 फाँसी के वक्त जल्लाद, मुजरिम के कान में क्या कहता है, यहाँ पढ़े 


🎯 जल्लाद की नौकरी सरकारी होती है प्राइवेट, यहाँ जाने और कैसे तैयार होती है फांसी के लिए रस्सी 

Post a Comment

Please share our post with your friends for more learning and earning.

Previous Post Next Post