सबसे पहले 26 मई को चंद्रग्रहण लगने के बाद अब 2021 में लगने वाला है सूर्य ग्रहण। सूर्य ग्रहण का वैज्ञानिक महत्त्व होने के साथ साथ ज्योतिष और धार्मिक महत्त्व भी है, जिसके लिए आपको ये जानना जरुरी है की साल 2021 में सूर्य ग्रहण (Surya Grahan Kab hai 2021) कब है।



Surya Grahan Kab Hai 2021 - सूर्य ग्रहण कब है 2021
Surya Grahan Kab Hai 2021 - सूर्य ग्रहण कब है 2021



सूर्य ग्रहण 2021 कब है - Surya Grahan Kab hai 2021

साल 2021 में कुल 4 ग्रहण होंगे, जिसमे दो सूर्य ग्रहण और 2 चंद्रग्रहण शामिल है। इसमें से पहला चंद्रग्रहण 26 मई 2021 को लग चूका है और इसके बाद अब बारी है सूर्य ग्रहण की। 2021 में पहला सूर्य ग्रहण 10 जून को लगेगा और इसके बाद दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 को लगेगा।




Surya Grahan 2021 Kitne Tarikh Ko Lagega- साल का पहला सूर्य ग्रहण 10 जून को ज्येष्ठ मॉस की अमावस्या को लगेगा। इस दिन शनि जयंती और वट सावित्री व्रत होने के कारण इस सूर्य ग्रहण का महत्त्व और बढ़ जाता है। ज्योतिषवादियों के अनुसार, इस ग्रहण का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभाव जनमानस पर दिखेगा। माना जा रहा है की इस बार सूर्य ग्रहण वृषभ राशि और मृगशिरा नक्षत्र में लगेगा और यह एक कंकड़ सूर्यग्रहण होगा।





सूर्य ग्रहण कितने बजे से कितने बजे तक लगेगा - Surya Grahan Kitne Baje Lagega

Surya Grahan Kab Shuru Hoga- भारतीय समयानुसार, 10 जून को दोपहर 1 बजकर 42 मिनट पर शुरू होगा जो तक़रीबन 5 घंटे तक चलेगा और शाम को 6 बजकर 41 मिनट पर खत्म होगा। यह सूर्य ग्रहण आंशिक सूर्य ग्रहण होगा, जिस वजह से सूतक काल मान्य नहीं होगा।





सूर्य ग्रहण किस देश में दिखाई देगा - Surya Grahan Kis Desh Mein Lagega

साल 2021 का पहला सूर्य ग्रहण उत्तरी कनाडा, रूस, और ग्रीनलैंड में पूर्ण रूप से होगा, जबकि भारत सहित यूरोप, एशिया, उत्तर पूर्वी अमेरिका और अटलांटिक महासागर में यह आँशिक रूप से देखा जा सकेगा। पूर्ण सूर्यग्रहण में रिंग ऑफ़ फायर स्पष्ट रूप से देखा जा सकेगा।





सूर्य ग्रहण में सूतक काल का समय क्या है 2021 - Surya Grahan Sutak Kaal Ka Samya Kya Hai

Surya Grahan 2021 Mein Sutak Kitne Baje Se Lagenge- भारत में 10 जून का सूर्यग्रहण एक आंशिक सूर्य ग्रहण होगा और यह भारत में बिल्कुल ना के बराबर नजर आएगा। ज्योतिष के अनुसार ऐसे ग्रहण का स्पर्शकाल, मोक्षकाल, सामान्य जनता के लिए जान पाना मुश्किल होता है, इसलिए ऐसे ग्रहण का सूतक भी मान्य नहीं होगा। अगर सूर्य ग्रहण पूर्ण होता है तो 12 घंटे पूर्व सूतक काल शुरू हो जाता है।



अन्य जानकारी-


🎯 सूर्य ग्रहण क्या होता है और यह कितने प्रकार का होता है


🎯 सूर्य ग्रहण के दिन हमे क्या करना चाहिए और क्या नहीं, यहाँ जाने 


यह भी पढ़े- 

Post a Comment

Please share our post with your friends for more learning and earning.

Previous Post Next Post