हिन्दू धर्म में अहोई अष्टमी के दिन माताएं अपने पुत्रों की भलाई के लिए अहोई माता का व्रत रखती है। इस व्रत को शाम को तारे देखने के बाद खोला जाता है। यह व्रत करवाचौथ के व्रत के आस पास ही आता है, जहाँ एक तरफ अपने पति की लम्बी उम्र के लिए स्त्रियाँ व्रत रखती है और शाम को चाँद देखने के बाद व्रत को खोलती है, ठीक उसी तरह अहोई का व्रत अपने पुत्रों के लिए रखा जाता है और तारे देखने के बाद खोला जाता है। 


अहोई का व्रत भी करवाचौथ के व्रत के सामान कठिन होता है और इस दिन भी बहुत सी महिलाएं जल का ग्रहण तक नहीं करतीं। यह व्रत उत्तर भारत में ज्यादा प्रसिद्ध है। इस पोस्ट में हम जानते है की साल 2023 में अहोई अष्टमी कब की है - Ahoi Ashtami Kab Ki Hai 2023 Date


Ahoi Ashtami Kab Ki Hai 2023 Date - अहोई अष्टमी 2023 कब की है
Ahoi Ashtami Kab Ki Hai 2023 Date - अहोई अष्टमी 2023 कब की है



अहोई अष्टमी 2023 कब की है - Ahoi Ashtami Kab Ki Hai 2023 Date

अहोई अष्टमी का व्रत करवाचौथ के व्रत के 4 दिन बाद और दीवाली पूजा से ठीक 8 दिन पहले आता है। अहोई अष्टमी का व्रत "अहोई आठे" के नाम से भी जाना जाता है क्योकि यह व्रत अष्टमी तिथि, जो की माह का आठवाँ दिन होता है के दिन किया जाता है। 



2023 Mein Ahoi Ashtami Kab Hai Date - अहोई का त्यौहार हर साल कार्तिक मास की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है इस साल अहोई अष्टमी का व्रत 05 नवंबर 2023, रविवार को रखा जायेगा। इस दिन महिलायें उपवास रखती है और साथ ही साथ अहोई देवी की पूजा भी करती है।





अहोई अष्टमी 2023 का शुभ मुहूर्त- Ahoi Ashthami 2023 Shubh Muhurat

Ahoi Ashthami Shubh Muhurat- करवाचौथ के समान ही अहोई अष्टमी का दिन भी एक कठोर उपवास का दिन होता है और बहुत सी महिलाएं इस दिन जल ग्रहण नहीं करती और आकाश में तारों को देखने के बाद ही जल ग्रहण किया जाता है। साल 2023 के लिए शुभ मुहूर्त कुछ इस प्रकार है-



  • अहोई अष्टमी पूजा मुहूर्त- 05 नवंबर 2023 शाम को 5 बजकर 34 मिनट से 6 बजकर 53 मिनट तक

  • अहोई अष्टमी तिथि प्रारम्भ- 05 नवंबर को 12 बजकर 59 (एएम) मिनट से

  • अहोई अष्टमी तिथि समाप्त- 06 नवंबर को 03 बजकर 18 (एएम) मिनट तक


यह भी पढ़े- 

कमेंट करें

Please share our post with your friends for more learning and earning.

और नया पुराने