इस समय कोरोना के चलते धार्मिक गतिविधियों से लेकर खेल जगत तक सभी जगह रोक लगायी जा रही है। अगर खेल जगत की बात करें तो पहले आईपीएल को कुछ समय के लिए ससपेंड किया गया वही उसके बाद अब मई के महीने में अमरनाथ यात्रा पर लगातार दूसरी साल रोक लगायी गयी है।  



इनके साथ ही अगर अब हम कावड़ यात्रा की बात करें तो साल 2020 में कोरोना के कारण ही कावड़ यात्रा को रोकना पड़ा था और कावड़ यात्रा नहीं हुई थी। अब 2021 में उत्तर प्रदेश सरकार और उत्तराखंड सरकार को ये फैसला लेना है की साल 2021 में कावड़ यात्रा होगी या नहीं। जहाँ एक तरफ योगी सरकार से इसकी हाँ है तो उत्तराखंड सरकार इसके लिए मना कर चुकी है। इस पोस्ट में हम यही जानते है की साल 2021 में कांवड़ यात्रा होगी या नहीं - Kanwar Yatra 2021 Hogi Ya Nahi


कांवड़ यात्रा 2021 होगी या नहीं - Kanwar Yatra 2021 Hogi Ya Nahi
कांवड़ यात्रा 2021 होगी या नहीं - Kanwar Yatra 2021 Hogi Ya Nahi




कांवड़ यात्रा 2021 होगी या नहीं - Kanwar Yatra 2021 Hogi Ya Nahi

25 जुलाई से शुरू होने वाले सावन के महीनें की तैयारियाँ तेजी से चल रही है, जहाँ एक तरफ शिव भक्त कावड़ यात्रा का इंतज़ार कर रहे है, वही दूसरी तरफ प्रदेश सरकार कावड़ यात्रा में कोरोना से बचाव के अपने पुरे प्रयास कर रही है। 10 जुलाई को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कावड़ यात्रा की समीक्षा की। लेकिन 13 जुलाई को उत्तराखंड सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इस बार की कावड़ यात्रा को कैंसिल कर दिया है। कावड़ यात्रा में उत्तराखंड मेजबानी की भूमिका निभाता है और और यहाँ पर मुख्य रूप से यूपी, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली व पंजाब से लोग आते है। 



2021 mein Kawan Yatra Hogi Ya Nahi - उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने साल 2021 में कावड़ यात्रा को हरी झंडी दे दी थी, लेकिन उत्तराखण्ड सरकार की मनाही के बाद और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब कही भी कावड़ यात्रा नहीं होगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा की सावन मास के शुरुआत से पहले बकरीद का त्यौहार भी है, जिसके मद्देनज़र सतर्कता और सावधानी आवश्यक है।



अब कांवड़ यात्रा पर दोनों राज्यों का अलग अलग रुख होने पर यूपी और उत्तराखंड के बॉर्डर पर टकराव के हालात भी पैदा हो सकते है। पुलिस का कहना है की अगर यूपी की तरफ से भीड़ उत्तराखंड में आयी तो उसे संभालना बहुत मुश्किल काम होगा। इसलिए इस विषय पर दोनों राज्यों के बीच तालमेल जरुरी है। 




साल 2021 की कावड़ यात्रा के तहत कुछ जरुरी बातें। 

योगी जी ने कांवड़ यात्रा की समीक्षा की, जिसके तहत उन्होंने मंडलायुक्त और पुलिस जोन के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मीटिंग की।   


उन्होंने कहा की जिन मार्गो पर कावंड़ यात्रा होनी है, वहाँ की सभी तैयारियां पूरी की जाये। 


कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्ण रूप से ध्यान रखा जाये।


शिव मंदिरों, शिवालयों, देव मंदिरों, यात्रा मार्गो सहित ग्रामीण व शहरी इलाकों की साफ़ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। 


यात्रा मार्गो पर स्ट्रीट लाइट सुनिश्चित की जाये। 


संवेदनशील इलाकों पर चाक चौबंद सुरक्षाव्यवस्था राखी जाये। 


विधुत आपूर्ति और पेयजल सहित यात्रियों के लिए सभी सुविधाएं रखी जाएं। 



अन्य जानकारी- 

🎯 सावन के सोमवार की व्रत विधि और सावन के व्रत में क्या करना चाहिए हिंदी में यहाँ पढ़े


🎯 सावन के सोमवार की व्रत कथा हिंदी में यहाँ पढ़े  


🎯 आज चाँद कितने निकलेगा 2021



यह भी पढ़े- 

कमेंट करें

Please share our post with your friends for more learning and earning.

और नया पुराने