हर साल का दूसरा महीना, यानि फरवरी प्रेमी जोड़ो के लिए कुछ खास लेकर आता है जिसे हम वैलेंटाइन वीक (Valentine Week) के नाम से जानते है। इसमें कुल 8 दिन होते है, जो 7 फरवरी से 14 फरवरी तक चलते है। इसमें पहला दिन रोज डे (Rose Day) होता है और आखिरी दिन वैलेंटाइन डे (Valentine Day) होता है। ये सभी दिन बिलकुल अलग अलग होते है और सबका अपना अपना महत्त्व होता है।



वही सबसे आखिरी में आने वाला दिन सबसे खास होता है और अगर कोई शुरू के 7 दिन सेलिब्रेट नहीं करता है तो, वो सबसे आखिरी का दिन यानि वैलेंटाइन डे जरूर सेलिब्रेट करता है, जिसके लिए आपको यह जान लेना जरुरी है की वैलेंटाइन डे कब होता है - Valentine Day Kab Hota Hai. तो चलिए जानते है की वैलेंटाइन डे कब मनाया जाता है - Valentine Day Kab Manaya Jata Hai



वैलेंटाइन डे कब मनाया जाता है | Valentine Day Kab Manaya Jata Hai
वैलेंटाइन डे कब होता है - Valentine Day Kab Hota Hai

वैलेंटाइन डे कब मनाया जाता है - Valentine Day Kab Manaya Jata Hai

सबसे पहले गुलाब देने के बाद प्रपोज़ किया जाता है फिर चॉकलेट देकर मीठा खिलाया जाता है उसके टेडी देकर साथ रहने का प्रॉमिस किया जाता है और गले मिलने के बाद किस किया जाता है और आखिरी में अपने वैलेंटाइन के लिए वैलेंटाइन डे मनाया जाता है।



Valentine day Kab Hota Hai- वैलेंटाइन डे सबसे आखिरी में 14 फरवरी को मनाया जाता है यह वैलेंटाइन वीक का सबसे आखिरी दिन होता है। यह दिन 14 फरवरी को विश्व के अलग अलग हिस्सों में मनाया जाता है। साल 2022 में यह दिन सोमवार के दिन पड़ रहा है, लेकिन अगर यह रविवार को होता तो इस दिन का अपना अलग ही मजा होता।




वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है और वैलेंटाइन डे का क्या महत्व है - Valentine's Day Par Kya Hota Hai or Valentine's Day Kyu Manaya Jata Hai

वैलेंटाइन डे दो प्यार करने वालों के लिए एक खास दिन होता है यह त्यौहार खासकर युवा वर्ग के द्वारा मनाया जाता है। इस दिन प्रेमी प्रेमिका खासकर  गिफ्ट देते है और अपने प्यार का इज़हार करते है।



Valentine Day Kyo Manaya Jata Hai - वैलेंटाइन डे की शुरुआत के लिए बहुत सारे तर्क दिए जाते है, लेकिन बहुत सी जानकारी के मुताबिक, "आरिया ऑफ़ जैकोबस डी वर्सन" नाम की किताब में इसका बहुत ही खास जिक्र किया है। जिसमे बताया गया है की यह त्यौहार एक संत पादरी "वैलेंटाइन" के नाम पर मनाया जाता है।

 

ऐसा कहा जाता है की संत वैलेंटाइन दुनिया में प्यार को बढ़ावा देने में विश्वास रखते थे, लेकिन रोम के एक राजा (सम्राट क्लाउडियस) को ये बात बिलकुल भी पसंद नहीं आती थी और वो प्रेम विवाह के खिलाफ थे और वो प्रेम विवाह को गलत मानते थे। 



क्लाउडियस को लगता था की परिवारों में और पति पत्नी के बीच इस बढ़ते प्यार के कारण लोग सेना में भर्ती नहीं होते है,  जिस वजह से उन्होंने रोम में शादी और सगाई पर पाबन्दी लगा दी थी। 



वहाँ के संत पादरी ने इसका विरोध किया और वहाँ बहुत से सैनिको की शादियाँ भी करायी, जिसके बाद उन्हें 14 फरवरी के दिन फाँसी पर चढ़ा दिया गया। उस दिन से ही 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के नाम से जाना जाता है।




वैलेंटाइन वीक की अन्य जानकारी-








यह भी पढ़े-

कमेंट करें

Please share our post with your friends for more learning and earning.

और नया पुराने